बेल्जियम में परमाणु कारखाने के गार्ड की हत्या, परमाणु सामग्री उड़ाने की घात में आतंकी

बेल्जियम के तिहांगे में स्थित परमाणु कारखाना। डिडियर प्रोस्पेरो नाम का सुरक्षा गॉर्ड यहीं पर तैनात था।

बेल्जियम से एक बेहद संगीन खबर आ रही है। बेल्जियन मीडिया के अनुसार वहां के एक परमाणु कारखाने के सुरक्षा गॉर्ड का पास चुराने के लिये उसकी हत्या कर दी गयी।

बेल्जियन मीडिया के मुताबिक यह बेहद गंभीर घटना वहां राजधानी ब्रसेल्स के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे और एक व्यस्त मेट्रो स्टेशन पर हमले के दो दिन बाद घटी।

बेल्जियम के एक अखबार ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि जैसे ही सिक्योरिटी गार्ड डिडियर प्रोस्पेरो (Didier Prospero) का शव मिला, उसके बाद उसके सिक्युरिटी पास को निष्क्रिय कर दिया गया है।

गार्ड शार्लरओ क्षेत्र में स्थित बेल्जियम न्यूक्लियर प्लांट में तैनात था। पुलिस का कहना है कि इस मामले पर अभी कोई टिप्पणी नहीं की जा सकती, क्योंकि अभी मामले की जांच की जा रही है।

साथ ही रिपोर्ट में यह भी संभावना जताई गई है कि आतंकी न्यूक्लियर मैटेरियल हासिल करना चाहते थे या फिर उनकी न्यूक्लियर प्लांट पर हमला करने की योजना थी।

इस हफ्ते इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने ब्रसेल्स के एयरपोर्ट और मेट्रो स्टेशन पर आत्मघाती हमले में 35 लोगों को मार डाला था। हमलों में 200 से ज्यादा लोग घायल हुये हैं।

 डिडियर प्रोस्पेरो बेल्जियम के तिहांगे स्थित परमाणु संस्थान में तैनात था। ब्रसेल्स हमले के 2 दिन बाद प्रोस्पेरो की हत्या कर उसका सिक्योरिटी पास चुराया गया है।

डिडियर प्रोस्पेरो बेल्जियम के तिहांगे स्थित परमाणु संस्थान में तैनात था। ब्रसेल्स हमले के 2 दिन बाद प्रोस्पेरो की हत्या कर उसका सिक्योरिटी पास चुराया गया है।

पिछले साल नवंबर में फ्रांस की राजधानी पेरिस में हुये हमलों के पांच महीनों के अंदर यूरोप में हुये इस दूसरे बड़े हमले ने यूरोप की सरकारों की चिंता बढ़ा दी है। पेरिस हमले में भी 130 से ज्यादा लोग मारे गये थे।

बेल्जियम के एक अखबार ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि जैसे ही सुरक्षा गार्ड डिडियर प्रोस्पेरो (Didier Prospero) का शव मिला, उसके बाद उसके सिक्युरिटी पास को निष्क्रिय कर दिया गया है।

डिडियर प्रोस्पेरो शार्लरओ क्षेत्र में स्थित बेल्जियम न्यूक्लियर प्लांट में तैनात था। पुलिस का कहना है कि इस मामले पर अभी कोई टिप्पणी नहीं की जा सकती, क्योंकि अभी मामले की जांच की जा रही है।

साथ ही रिपोर्ट में यह भी संभावना जताई गई है कि आतंकी न्यूक्लियर मैटेरियल हासिल करना चाहते थे या फिर उनकी न्यूक्लियर प्लांट पर हमला करने की योजना थी।

%d bloggers like this: