चंडीगढ़ स्थानीय निकाय चुनाव में भाजपा को अकेले दो तिहाई बहुमत

चंडीगढ़ स्थानीय चुनाव में भाजपा ने 26 में 20 सीटों पर विजय दर्ज की।

मंगलवार को आए चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव में बीजेपी को जोरदार सफलता मिली है। चंडीगढ़ नगर निकाय की 26 में से 20 वार्डों पर बीजेपी ने जीत दर्ज की है, जबकि एक सीट उसकी सहयोगी शिरोमणि अकाली दल को मिली है।

कांग्रेस को चार और निर्दलीय को एक सीट पर सफलता मिली है। इस तरह बीजेपी गठबंधन को चंडीगढ नगर निगम में पूर्ण बहुमत मिल गयी है। चुनाव में विजयी पार्षदों के साथ ही चंडीगढ़ की सांसद ने भी जीत के लिए लोगों का धन्यवाद दिया है।

बीजेपी के लिये ये नतीजे इसलिए भी अहम हैं, क्योंकि विमुद्रीकरण के बाद हुए तमाम चुनावों में पार्टी को भारी कामयाबी मिल रही है। पीएम मोदी ने जीत को सरकार के सुशासन को जनता का समर्थन करार दिया है।

पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने भी लोगों को धन्यवाद दिया है।

आठ नवंबर के बड़े फैसले के बाद देश में हुए तमाम चुनावों में पार्टी को बडी कामयाबियां मिल रही हैं। विभिन्न राज्यों की 10 विधानसभा और चार लोकसभा सीटों पर 22 नवंबर को आए नतीजों में बीजेपी को अच्छी कामयाबी मिली थी।

मध्य प्रदेश की शहडोल लोकसभा सीट और नेपानगर विधानसभा सीट पर बीजेपी ने कामयाबी हासिल की। असम की लखीमपुर लोकसभा सीट और अरुणाचल प्रदेश की हायूलियांग विधानसभा सीट भी बीजेपी ने जीती।

27 नवंबर को गुजरात में भी स्थानीय निकायों के उपचुनाव हुए। यहां बीजेपी ने 126 में से 109 सीटों पर जीत हासिल की। कांग्रेस को सिर्फ 17 सीटें मिलीं। पहले यहां बीजेपी के पास 64 सीटें थीं और कांग्रेस के पास 52 सीटें थीं।

राजस्थान नगर निकाय उपचुनावों में भी बीजेपी का ही सिक्का चला। प्रदेश के 20 जिलों में तीन जिला परिषद, दस नगर निकाय और 24 पंचायत समिति की सीटों पर 29 नवंबर को उप-चुनाव कराए गए।

तीन जिला परिषदों की सीटों में से दो सीटें बीजेपी और एक कांग्रेस को मिलीं। 24 पंचायत समितियों में संपन्न हुए चुनावों बीजेपी ने 12 और कांग्रेस ने 10 सीटें जीतीं, जबकि निर्दलियों ने दो सीटों पर कब्जा किया।

महाराष्ट्र में हुए नगर निकाय चुनावों में बीजेपी को शानदार सफलता मिली है। अब तक हुए तीन चरणों के चुनावों में उसके पाषर्दों की संख्या बढ़कर 1061 हो गई।

894 सीटों के साथ कांग्रेस दूसरे, 786 सीटों के साथ एनसीपी तीसरे और 598 सीटों के साथ शिवसेना चौथे स्थान पर हैं। बीजेपी ने तीसरे चरण में आठ नगरपालिका परिषद अध्यक्ष के चुनाव भी जीते, जिसके साथ उसके अध्यक्षों की संख्या बढ़कर 64 हो गई।

 

Be the first to comment on "चंडीगढ़ स्थानीय निकाय चुनाव में भाजपा को अकेले दो तिहाई बहुमत"

आप इस खबर पर अपनी प्रतिक्रिया यहां पर दे सकते हैं।

%d bloggers like this: