चीन के सबसे लंबे मानव अंतरिक्ष अभियान शेनझोउ -11 का सफल

चीन की अंतरिक्ष एजेंसी सीएनएसए के मानव अंतरिक्ष अभियान शेन्झाऊ-11 का सफल प्रक्षेपण, 17 अक्टूबर 2016। फोटो - साभार शिन्हुआ।

चीन ने मानवयुक्त अंतरिक्ष अभियान में दो अंतरिक्ष यात्रियों को धरती की परिक्रमा कर रहे अपनी दूसरी प्रयोगशाला में भेजा है।

चीन के यह दोनों अंतरिक्ष यात्री वहां एक महीने तक रहेंगे।

इसका उद्देश्य 2022 तक अंतरिक्ष में चीन का अपना स्टेशन तैयार करना है।

चीन ने इसके लिए अपने प्रयास और तेज कर दिये हैं। चीनी अंतरिक्षयात्री चिंग हैपेंग (50) और 37 वर्षीय चेन डोंग उत्तरी चीन में गोबी रेगिस्तान के पास जिक्यूआन उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से सोमवार की सुबह साढ़े सात बजे ‘शेनझोउ-11’ अंतरिक्ष यान से अंतरिक्ष के लिए रवाना हुए थे।

चीन की अंतरिक्ष एजेंसी सीएनएसए के मानव अंतरिक्ष अभियान शेन्झाऊ-11 का सफल प्रक्षेपण, 17 अक्टूबर 2016। फोटो - साभार शिन्हुआ।

चीन की अंतरिक्ष एजेंसी सीएनएसए के मानव अंतरिक्ष अभियान शेन्झाऊ-11 का सफल प्रक्षेपण, 17 अक्टूबर 2016। फोटो – साभार शिन्हुआ।

चीन की आधिकारिक समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबि ‘शेनझोउ-11′ अंतरिक्ष यान में सवार चीन के अंतरिक्ष यात्रियों जिंग हाइपेंग और चेन दोंग ने चीन में गोबी रेगिस्तान के पास जियुक्वान उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से स्थानीय समयानुसार साढे सात बजे अंतरिक्ष के लिए उडान भरी।

चीन के सरकारी प्रसारक सीसीटीवी (CCTV) ने इस प्रक्षेपण का सीधा प्रसारण किया।

चीन के मानवयुक्त अंतरिक्ष इंजीनियरिंग कार्यालय की उपनिदेशक वू पिंग ने बताया कि यह दो दिन में पृथ्वी की परिक्रमा कर रही थियानगोंग-2 अंतरिक्ष प्रयोगशाला से मिल जायेगा और दोनों अंतरिक्षयात्री 30 दिन तक यहां रहेंगे।

शिन्हुआ समाचार एजेंसी ने जानकारी दी है कि दो दिन के अंदर यह पृथ्वी की परिक्रमा कर रहे थियानगोंगे-2 अंतरिक्ष प्रयोगशाला से मिल जाएगा, यहां दोनों अंतरिक्ष यात्री 30 दिनों तक रहकर काम करेंगे. चीन ने 2003 में पहली बार मानवयुक्त अभियान भेजा था।

Be the first to comment on "चीन के सबसे लंबे मानव अंतरिक्ष अभियान शेनझोउ -11 का सफल"

आप इस खबर पर अपनी प्रतिक्रिया यहां पर दे सकते हैं।

%d bloggers like this: