लखनऊ मेट्रो को यूरोपीय बैंक से साढ़े तीन हजार करोड़ रु. का कर्ज

30 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में समझौता हुआ।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बेल्जियम यात्रा के दौरान बुधवार को इस संबंध में एक समझौते पर हस्ताक्षर किये गये हैं।

इसके अन्तर्गत लखनऊ मेट्रो परियोजना के पहले चरण के लिये यूरोपियन इंवेस्‍टमेंट बैंक (European Investment Bank) से 450 मिलियन यूरो यानी करीब 3,502 करोड़ रुपए का कर्ज मिलेगा।

30 मार्च, 2016 को ब्रुसेल्‍स में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में बेल्जियम में भारतीय राजदूत मंजीव सिंह पुरी एवं यूरोपियन इंवेस्‍टमेंट बैंक के उपाध्‍यक्ष श्री जोनाथन टेलर ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किये।

लखनऊ मेट्रों को 2 किश्तों में पहले चरण के लिये धन मिलेगा।

लखनऊ मेट्रों को 2 किश्तों में पहले चरण के लिये धन मिलेगा।

इसके मुताबिक कर्ज 2 किश्तों में जारी किया जायेगा। पहली किश्त 200 मिलियन यूरो एवं दूसरी किश्त 250 मिलियन यूरो की होगी।

लखनऊ मेट्रो परियोजना के पहले चरण की लंबाई करीब 23 किलोमीटर है और करीब 7,000 करोड़ रुपये की इस परियोजना में केंद्र और राज्य सरकार बराबर के हिस्सेदार हैं।

इस परियोजना को भारत सरकार द्वारा दिसंबर 2015 में मंजूरी दी गयी थी।

%d bloggers like this: