इस्लामाबाद दक्षेस शिखर सम्मेलन खटाई में, 8 में 4 सदस्यों का भाग लेने से इंकार

फाइल फोटो - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दक्षेस शिखर सम्मेलन में, काठमूांडू, नेपाल, 27 नवंबर 2014।

भारत के साथ-साथ भूटान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान द्वारा इस्लामाबाद में नवंबर में होने वाले सार्क सम्मेलन में हिस्सा लेने से इनकार करने के बाद इसके रद्द होने की संभावना बढ़ गई है।

खबरों के मुताबिक दक्षिण एशियाई सहयोग संगठन के मौजूदा प्रमुख नेपाल प्रधानमंत्री देर शाम तक इसके रद्द होने की ओपचारिक ऐलान कर सकते है।

पाकिस्तान प्रायोजित आतंकावाद के खिलाफ एक सख्त रुख अपनाते हुये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सार्क शिखर सम्मेलन में भाग नहीं लेने का फैसला किया था।

फाइल फोटो - प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ दक्षेस शिखर सम्मेलन में, काठमूांडू, नेपाल, 27 नवंबर 2014।

फाइल फोटो – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ दक्षेस शिखर सम्मेलन में, काठमूांडू, नेपाल, 27 नवंबर 2014।

पाकिस्तान का भारत के खिलाफ सीमा पार आतंकवाद जारी रखने का हवाला देते हुए भारतीय विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को घोषणा की थी कि मौजूदा हालात में भारत सरकार इस्लामाबाद में होने वाले शिखर सम्मेलन में भाग लेने में असमर्थ है।

बांग्लादेश द्वारा भेजे गए पत्र में कहा गया है, बांग्लादेश के अंदरूनी मामलों में एक देश के बढ़ते हस्तक्षेप ने ऐसा माहौल उत्पन्न कर दिया है जो नवंबर 2016 में इस्लामाबाद में 19वें दक्षेस शिखर सम्मेलन के सफल आयोजन के लिए उपयुक्त नहीं है।

खबरों के मुताबिक बांग्लादेश ने कहा दक्षेस प्रक्रिया के आरंभकर्ता के रूप में बांग्लादेश क्षेत्रीय सहयोग, कनेक्टिविटी और संपर्कों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता पर अटल है, लेकिन उसका मानना है कि ये चीजें एक सुखद माहौल में ही आगे बढ़ सकती हैं। उपरोक्त के मददेनजर बांग्लादेश इस्लामाबाद में प्रस्तावित शिखर सम्मेलन में भाग लेने में असमर्थ है।

भूटान ने कहा कि हालांकि वह दक्षेस प्रक्रिया और क्षेत्रीय सहयोग बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है लेकिन क्षेत्र में हाल में आतंकवादी घटनाओं में आई तेजी से वह चिंतित है जिसका असर इस्लामाबाद में नंवबर 2016 में होने वाले 19वें दक्षेस शिखर सम्मलेन के सफल आयोजन के लिए जरूरी माहौल पर पड़ा है।

भूटान की ओर से आगे कहा गया है, इसके अलावा भूटान की शाही सरकार क्षेत्र में आतंकवाद के कारण शांति और सुरक्षा की बिगड़ती स्थिति पर दक्षेस के कुछ सदस्य देशों की चिंता से इत्तेफाक रखती है तथा वर्तमान हालात में दक्षेस शिखर सम्मेलन में शामिल होने में अपनी असमर्थता व्यक्त करने में उन देशों के साथ है ।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा है कि भारत ने इसकी जानकारी दक्षेस के मौजूदा अध्यक्ष नेपाल को दे दी है। सूत्रों के मुताबिक, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और भूटान पहले ही क्षेत्र में बढ़ते आतंकवाद और इसमें एक देश की भूमिका का हवाला देते हुए सम्मेलन में भागीदारी से असमर्थता जता चुके हैं।

भारत के इस फैसले के बाद दक्षेस सम्मलेन का रद्द होना तय हो गया है। दक्षेस के संविधान के मुताबिक, एक भी सदस्य देश यदि शामिल होने में असमर्थता जताए तो शिखर सम्मेलन नहीं हो सकता।

Be the first to comment on "इस्लामाबाद दक्षेस शिखर सम्मेलन खटाई में, 8 में 4 सदस्यों का भाग लेने से इंकार"

आप इस खबर पर अपनी प्रतिक्रिया यहां पर दे सकते हैं।

%d bloggers like this: