पिछले 2 सालों में दुनिया के सैन्य खर्च में लगातार वृद्धि

भारतीय वायुसेना का एक ईंधन टैंकर और एक युद्धक विमान।

स्वीडन के एक मशहूर शोध संस्थान के मुताबिक पिछले 2 सालों में दुनिया में सैन्य खर्च लगातार बढ़ा है।

वर्ष 2016-17 में विश्व के देशों ने सेना पर 1.69 खरब डॉलर खर्च किये जो कि पिछले साल की तुलना में करीब 0.4 प्रतिशत ज्यादा है।

स्टॉकहोम अंतरराष्ट्रीय शांति अनुसंधान संस्थान (SIPRI) के मुताबिक भारत रक्षा पर खर्च करने वाला दुनिया का पांचवां देश बन गया है।

साल 2016 में भारत ने सेना पर 55.9 बिलियन डॉलर खर्च किए हैं।

रक्षा बजट के के मामले में 611 बिलियन डॉलर के साथ अमेरिका दुनिया में पहले स्थान पर है और अमेरिका का रक्षा बजट अमेरिका के बाद आने वाले 8 देशों के सकल बजट से ज्यादा है। अमेरिका के रक्षा बजट में एक साल पहले की तुलना में 1.7% की वृद्धि हुई है।

रेगिस्तान में युद्धाभ्यास करते भारतीय थलसेना के जवान।

अमेरिका के बाद रक्षा पर सबसे ज्यादा खर्च चीन करता है। साल 2016-17 में चीन का रक्षा बजट 215 बिलियन डालर है जो एक साल पहले की तुलना में 5.4% ज्यादा है।

चीन के बाद रूस दुनिया में तीसरे नंबर पर है जिसका रक्षा बजट 69.2 बिलियन डॉलर रहा। रूस के बाद चौथे स्थान पर सउदी अरब रहा जिसका रक्षा बजट 63.7 बिलियन डॉलर रहा।

पिछले साल सउदी अरब तीसरे स्थान पर था लेकिन रक्षा बजट में 30 फीसदी की कटौती की वजह से वो रूस से पिछड़कर चौथे स्थान पर पहुंच गया।

55.9 बिलियन डॉलर के खर्च के साथ भारत पांचवे स्थान पर है लेकिन पाकिस्तान सैन्य खर्च पर 15 बड़े देशों में शामिल नहीं है।

पाकिस्तान रक्षा खर्च साल 2016-17 में 9.93 अरब डॉलर था।

Be the first to comment on "पिछले 2 सालों में दुनिया के सैन्य खर्च में लगातार वृद्धि"

आप इस खबर पर अपनी प्रतिक्रिया यहां पर दे सकते हैं।

%d bloggers like this: