सरकार ने जनता से पद्म पुरस्कारों के लिए नाम मांगे

फाइल फोटो - राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा को पद्म श्री पुरस्कार देते हुये। 12 अप्रैल 2016।

जनता अब पद्म पुरस्कारों के लिए किसी भी हस्ती और लब्धप्रतिष्ठ के नाम की सिफारिश करने का अधिकार मिला है।

संस्कृति मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक पहली बार जनता को ये अधिकार मिल रहा है।

पद्म पुरस्कारों के लिए हस्तियों के चयन में ज्यादा पारदर्शिता लाने और लॉबिंग के आरोपों से निजात पाने को ये नई नीति लाई गई है, ताकि पद्म पुरस्कार जैसा देश का प्रतिष्ठित सम्मान सच्चे मायने में जनता जनार्दन का हस्ताक्षरित पुरस्कार हो।

फाइल फोटो - राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी बैडमिन्टन खिलाड़ी सायना नेहवाल को पद्म भूषण पुरस्कार देते हुये।12 अप्रैल 2016।

फाइल फोटो – राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी बैडमिन्टन खिलाड़ी सायना नेहवाल को पद्म भूषण पुरस्कार देते हुये।12 अप्रैल 2016।

किसी भी हस्ती के नाम की सिफारिश ऑनलाइन की जा सकेगी, लेकिन सिफारिश करने वाले को अपना नाम और आधार कॉर्ड के नंबर का उल्लेख करना होगा।

आधार कार्ड के जरिये एक ही नाम से अनेक एंट्रीज का फर्जीवाड़ा रोका जा सकेगा और सिफारिश करने वाले की पहचान भी पता चलेगी।

फिलहाल सरकारी महकमों और मंत्रालयों से 1700 सिफारिशी पत्र सरकार को मिले हैं।

अब नई स्कीम में ऑनलाइन पोर्टल पर जाकर आम जनता अपने नए अधिकार का इस्तेमाल आधार के साथ कर सकती है।

हाल ही में PMO, गृह और संस्कृति मंत्रालयों के साथ कुछ और मंत्रालयों के मंत्रियों और आला अधिकारियों की बैठक में जनता को ये नया अधिकार देने पर सहमति बनी।

जनता के लिए अपनी सिफारिश भेजने का वक्त भी इस साल तो कम ही मिलेगा। सिर्फ 15 सितंबर तक ही ऑनलाइन सिफारिश हो सकेगी।

Be the first to comment on "सरकार ने जनता से पद्म पुरस्कारों के लिए नाम मांगे"

आप इस खबर पर अपनी प्रतिक्रिया यहां पर दे सकते हैं।

%d bloggers like this: