डॉ. अंबेडकर की 125वीं जयंती पर ग्राम उदय योजना

प्रधानमंत्री डॉ. अंबेडकर की 125वीं जयंती पर उनके जन्म स्थान महू से ग्राम उदय से भारत उदय योजना की शुरुआत की।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज भारतीय संविधान के निर्माता बाबा साहेब अम्बेडकर की 125वीं जयंती पर महू में उनकी जन्मस्थली पर श्रद्धांजलि अर्पित की।

इसके बाद प्रधानमंत्री ने महू में आयोजित एक सार्वजनिक सभा में ‘ग्राम उदय से भारत उदय अभियान’ का शुभारंभ किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह उनका सौभाग्य है कि वह इस शुभ दिवस पर महू में हैं।

उन्होंने इस अवसर पर यह स्मरण किया कि डॉ. अम्बेडकर ने समाज में अन्याय के खिलाफ लड़़ाई लड़ी थी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उन्होंने समानता और सम्मान के लिए लड़ाई लड़ी थी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि 14 अप्रैल से लेकर 24 अप्रैल, 2016 तक चलने वाले ग्राम उदय से भारत उदय अभियान’ के तहत गांवों में होने वाले विकास कार्यों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने महू में भगवान बुद्ध की प्रतिमा पर श्रद्धा सुमन अर्पित किये।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री ने महू में भगवान बुद्ध की प्रतिमा पर श्रद्धा सुमन अर्पित किये।

उन्होंने कहा कि इस साल का केंद्रीय बजट किसानों और गांवों को समर्पित है। उन्होंने कहा कि विकास की पहलों को ग्रामीण विकास पर केंद्रित होना चाहिए।

देश के दूरदराज के गावों में बिजली पहुंचाने की सरकार की कोशिशों का जिक्र करते हुये प्रधानमंत्री ने कहा कि 1000 दिनों की समय सीमा के भीतर उन 18000 गांवों का विद्युतीकरण किया जा रहा है, जो बिजली की सुविधा से वंचित हैं।

उन्होंने कहा कि ‘गर्व’ एप के जरिये लोग इस लक्ष्‍य की प्राप्ति में हो रही प्रगति की समीक्षा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि गांवों में डिजिटल कनेक्टिविटी आवश्यक है।

प्रधानमंत्री ने किसानों की आय दोगुनी करने के उद्देश्‍य का उल्लेख किया और कहा कि ग्रामीणों की क्रय क्षमता को निश्चित तौर पर बढ़ाना है इससे भारत की अर्थव्यवस्था को नई गति मिलेगी।

उन्होंने कहा कि पंचायती राज से जुड़े संस्थानों को और ज्यादा मजबूत एवं और ज्यादा जीवंत बनाया जाना चाहिए।

%d bloggers like this: