सर्बानंद सोनोवाल ने असम के मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी संभाली

सर्बानंदा सोनोवाल ने 2 साल के अंदर बांग्लादेश सीमा को सील कर घुसपैठियों की समस्या से निपटने का ऐलान किया है।

सर्बानंदा सोनोवाल ने मंगलवार को असम में भाजपा के पहले मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ले ली है। शपथ ग्रहण समारोह में पूर्व सीएम तरुण गोगोई भी शामिल हुए।

सर्बानंदा सोनोवाल ने चुनाव जीतने के बाद  2 साल के अंदर बांग्लादेश सीमा को सील कर घुसपैठियों की समस्या से निपटने का ऐलान किया है। सोनोवाल ने कहा था कि इसके लिये नागरिकों के रजिस्टर को भी दुरुस्त किया जायेगा ताकि अवैध घुसपैठियों को देश से बाहर निकाला जा सके।

साफ सुथरी छवि के सोनोवाल ने अवैध घुसपैठियों की समस्या से निपटने वायदे के तहत अप्रत्याशित जीत हासिल की है।

साफ सुथरी छवि के सोनोवाल ने अवैध घुसपैठियों की समस्या से निपटने वायदे के तहत अप्रत्याशित जीत हासिल की है।

शपथ ग्रहण समारोह में पीएम मोदी और अमित शाह समेत कई बड़े दिग्गज नेता पहुंचे। सर्बानंद सोनोवाल माजुली से चुने गए थे। पूर्वोंतर में पहली बार बीजेपी की सरकार बनी है।

रविवार को पीएम मोदी ने सोनोवाल की तारीफ की थी। गौरतलब है कि असम में बीजेपी ने 60 सीटों पर कब्जा किया है और सहयोगियों के साथ उसका आंकड़ा दो तिहाई सीटों से ज्यादा है।

15 साल से असम के मुख्यमंत्री रहे तरूण गोगोई तीसरी बार सत्ता में आने में नाकाम रहे और इस बार कांग्रेस पार्टी 2011 के चुनाव की तुलना में केवल एक तिहाई सीटें ही जीत पायी।

केंद्रीय खेल मंत्री सर्बानंद सोनोवाल को मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनाकर पेश करने वाली भाजपा और उसके गठबंधन सहयोगियों असम गण परिषद एवं बोडो पीपुल्स फ्रंट () ने 126 सदस्यीय विधानसभा की 86 सीटें जीतीं।

Be the first to comment on "सर्बानंद सोनोवाल ने असम के मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी संभाली"

आप इस खबर पर अपनी प्रतिक्रिया यहां पर दे सकते हैं।

%d bloggers like this: