जीएसटी: 4 स्तरीय टैक्स दरों को मंजूरी, सबसे कम 5 और अधिकतम 28% टैक्स

जीएसटी परिषद ने संपूर्ण देश में एक समान वस्तु एवं सेवा कर ढांचे के तहत 5, 12, 18 और 28 प्रतिशत की चार स्तर की दरें तय की हैं।

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने इसकी जानकारी प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दी। वित्त मंत्री ने कहा कि जीएसटी परिषद ने जीएसटी टैक्स दरों को अंतिम रूप दे दिया है।

जीएसटी परिषद ने वस्तु एवं सेवा कर ढांचे के तहत 5, 12, 18 और 28 प्रतिशत की चार स्तर की दरें तय की।

भारतीय संसद ने 2016 के शीतकालीन सत्र में जीएसटी के लिये संविधान संशोधन को मंजूरी दी थी।

भारतीय संसद ने 2016 के शीतकालीन सत्र में जीएसटी के लिये संविधान संशोधन को मंजूरी दी थी।

जीएसटी के तहत उपभोक्ता मूल्य सूचकांक में शामिल खाद्यान्न सहित आम व्यक्तियों द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली 50 प्रतिशत वस्तुओं पर शून्य कर लगेगा।

उच्चतम दर के प्राप्त होने वाले कर से होने अतिरिक्त राजस्व आय का इस्तेमाल आवश्यक उपभोग की वस्तुओं पर कर की दर पांच प्रतिशत रखने में किया जाएगा और आम उपभोग की कुछ वस्तुओं को 18 प्रतिशत के दायरे में हस्तांतरित किया जायेगा।

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि जिन वस्तुओं पर इस समय उत्पाद शुल्क और वैट सहित कुल 30-31 प्रतिशत कर लगता है उन पर जीएसटी दर 28 प्रतिशत होगी। और आम लोगों की सामान्य उपभोग की वस्तुओं पर जीएसटी की दर 5 प्रतिशत होगी।

One Comment

आप इस खबर पर अपनी प्रतिक्रिया यहां पर दे सकते हैं।